All Categories

BJRTI001 भारतीय रेलवे को पिछले 15 सालो में 2004 से 2019 तक हुए लाभ की जानकारी

भारतीय रेलवे से RTI एक्ट 2005 के अंतर्गत पूछे गए सवाल का का जवाब देते हुए भारतीय रेलवे ने पिछले 15 सालो जानकारी दी है की उसको कितना लाभ हुआ ।

खाड़ी देशो में भारतीयों की मौत का सबसे चौकाने वाले आकड़े एक बार जरूर नज़र डाले

लोकसभा में पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए केंद्रीय विदेश मंत्रालय में राज्य मंत्री वी। मुरलीधरन ने बताया की सबसे ज्यादा खाड़ी देशो में भारतीयों ने अपनी जान गवाई है ।

ट्रैफिक नियम तोड़ने पर अब लगेगा कई गुना ज्यादा जुर्माना मोटर व्हीकल (संशोधन) बिल 2019

मोटर व्हीकल (संशोधन) बिल 2019 लोकसभा के बाद बुधवार को राज्यसभा में भी पास हो गया. बिल में ट्रैफिक नियमों को तोड़ने वालों के खिलाफ सख्त एक्शन का प्रावधान है , जुर्माने की राशि कई गुना ज्यादा बढ़ा दी गयी है , यानी अब अगर आपने लापरवाही में ट्रैफिक नियम तोड़ा तो बड़ी रकम चुकानी पड़ सकती है, गाड़ी चलाते वक्त मोबाइल से बात करते पकड़े जाने पर पहले 1000 रुपये जुर्माना लगता था। जिसे बढ़ाकर 5000 रुपये कर दिया गया है।

बीएसएनएल में कुल कर्मचारियों की संख्या का विवरण तथा 2001 से तब तक नियुक्ति पाये कर्मचारियों की संख्या का विवरण :

एक RTI के जवाब में बीएसएनएल ने बताया की 2001 से 31 -03 -2019 तक Executives श्रेणी में कुल 22,762 लोगो को नियुक्ति दी गयी तथा NON - Executives श्रेणी में 16,578 लोगो को नियुक्ति दी गयी । इस तरह बीएसएनएल ने कुल 39,340 लोगो को नियुक्ति इन 18 सालो में दी है ।

2004-2019 तक भारतीय रेल के 21 ( RAILWAY RECRUITMENT BOARD ) के द्वारा GROUP C में भर्ती किये गए अभ्यर्थियों का विवरण :

रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड द्वारा पिछले पंद्रह सालो में सबसे ज्यादा नियुक्ति साल 2013 - 2014 में करी गयी थी , 2013 - 2014 में कुल 31,805 (ग्रुप C ) पदों पर नियुक्ति दी गयी थी ।

भारत संचार निगम लिमिटेड से आरटीआई एक्ट 2005 के अंतर्गत ये सवाल पूछा गया था की बीएसएनएल के सर्किल की आय और खर्च (Circle Wise EBITDA for the year 2017-2018)

भारत संचार निगम लिमिटेड से आरटीआई एक्ट 2005 के अंतर्गत ये सवाल पूछा गया था की बीएसएनएल के सर्किल की आय और खर्च ( 2017-2018 ) में कितना था ,ऊपर पोस्ट की गयी फोटो में आप देख सकते है की किस सर्किल में कितनी आय हो रही है और कितना नुकसान हो रहा है ।

उन्नाव रेप पीड़िता की हालत में सुधार सीबीआई ने रिकॉर्ड किया बयान

उन्नाव रेप काण्ड मे एक सबसे महत्वपूर्ण खबर ये हैं की पीड़िता की हालत मे सुधार है इसलिए पीड़िता को ICU से निकल कर उसको प्राइवेट वार्ड मे शिफ्ट कर दिया गया हैं वही दूसरी तरफ पीड़िता के वकील अभी भी ICU मे हैं सीबीआई ने पीड़िता का बयान दर्ज कर लिया हैं रोड एक्सीडेंट केस के सन्दर्भ मे जैसा की पता हैं की इस एक्सीडेंट मे पीड़िता की मौसी और चाची की मृत्यु हो गयी थी.

68500 सहायक अध्यापक भर्ती में ज़िला आवंटन केस में (आरक्षित श्रेणी ) को लेकर प्रयागराज हाईकोर्ट का बड़ा फैसला

प्रयागराज हाईकोर्ट ने प्रदेश के प्राथमिक परिषदीय विद्यालयों में 68500 सहायक अध्यापक भर्ती के तहत मेरिट पर सामान्य श्रेणी में चयनित हुए आरक्षित वर्ग (एमआरसी) के अभ्यर्थियों को बड़ी राहत दी है। लगभग 275 याचिकाओं के माध्यम से हज़ारो अभ्यर्थियों ने तैनाती के आदेश को चुनौती दी थी क्यों की आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को कहना था की ऊंची मेरिट होते हुए उन्हें जनरल मान कर उनके गृह जनपद से हज़ारो किलोमीटर दूर भेज दिया गया जबकि आरक्षित श्रेणी के कम मेरिट वाले अभी अपने गृह जनपद में है ।

गलत जिला आवंटन ( 68500 ) आर्डर आने के बाद पीड़ितों की जुबानी जरूर पढ़े पार्ट 2 जरूर पढ़े

जैसा की आप लोगो को पता हैं की जिला आवंटन का फैसला 29 अगस्त को आया था जिसमे MRC अभ्यर्थियों को लाभ दिया गया था कोर्ट मे ये तो साबित हो गया की आवंटन गलत हुआ था लेकिन आवंटन का फैसला कुछ ऊंची मेरिट के अभ्यर्थियों को पसंद नहीं आया. उनकी मांग हैं की आवंटन 68500 के सापेक्ष ही हो आईये जानते हैं अभ्यर्थियों की बात चीज पर आधारित कुछ तथ्य – कुछ जनरल के अभ्यर्थियों का कहना हैं डॉक्टर प्रभात कुमार जी ने केवल एक ट्वीट करके 6127 वालो को नियुक्ति दे दी जबकि वो कम मेरिट वाले थे कम मेरिट होते हुए भी उन्हें उनकी पसंद का जिला मिला 2 - सरकार को कई बार अपनी समस्या से अवगत करवाया गया लेकिन सरकार ने अभी तक कुछ भी नहीं किया एक महिला का कहना हैं की इस गलत जिला आवंटन की वजह से मैं डिप्रेशन मे चल गयी थी कुछ का कहना हैं जोइनिंग सबकी साथ मे हुयी थी उसी टाइम आवंटन कर दिया जाता तो आज ये नौबत नहीं आती

ISRO ( चंद्रयान 2 ) संपर्क टूटा है हम हिंदुस्तानियों का हैसला नहीं

इसरो ने चंद्रयान - 2 को 22 जुलाई 2019 को श्रीहरिकोटा रेंज से 02.43 अपराह्न को सफलता पूर्वक प्रक्षेपित किया गया था चंद्रयान 2 ने पृथ्वी और चन्द्रमा के बीच 3, 84, 000 किलोमीटर मे से 3, 83, 998 किलोमीटर दूरी तय की थी 7 सितम्बर 2019 को 1.55 A.M पर भारत के मून लैंडर विक्रम (Lander Vikram) का इसरो (ISRO) से उस समय संपर्क टूट गया था, जब वह चंद्रमा की सतह से महज 2.1 किलोमीटर की दूरी पर था इसरो प्रमुख के. सीवन (K Sivan) और उनकी टीम उस समय काफी दुःखी हो गयी थी । प्रधानमंत्री भी इसरो में उपस्थित थे उन्होंने भारतीयों वैज्ञानिको का हैसला बढ़ाया और उनके द्वारा की गयी मेहनत की सहारना की ।