Sickness Caused due to Weather Change
Sickness Caused due to Weather Change

मौसम के बदलाव से हुई बीमारियां

हर बार जब हम मौसम में बदलाव देखते हैं तो उसके साथ कई सारी बीमारियां भी आती है और हम देखते हैं कि बच्चों से लेकर बड़ों तक सब किसी ना किसी बीमारी से पीड़ित होते हैं जब मौसम या तो बदलने वाला होता है या बदल जाता है तब चिकित्सा अनुसंधान के अनुसार बड़े लोग सर्दी में दो से तीन बार पीड़ित होते हैं वहीं अगर बच्चों की बात करें तो वह छह से सात बार पीड़ित होते हैं और यह एकदम आम संख्या है क्योंकि जब सर्दी होती है तो वायरस मिलते हैं और वायरस फैलने के कारण सर्दी जुकाम होना एक आम बात है।

Weather Illness
Weather Illness

हर बार जब मौसम बदलता है और हमें लगता है कि मौसम बदलने वाला है तो लोगों में एलर्जी भी बढ़ जाती है जैसे की खुजली चलना, गला सूखना, गले में खराश होना, और छींक आना, आंखों में पानी आना यह सब एलर्जी के सामान्य लक्षण है।

यह वायरस मौसम के बदलाव के कारण लोगों में आने में सबसे ज्यादा जिम्मेदार कहलाते हैं।

जब भी मौसम बदलता है तो लोग रात और बीमार होते ही हैं क्योंकि वायरस को एक इंसान के अंदर पनपने के लिए तापमान में बदलाव की जरूरत होना जरूरी है और जब मौसम बदलता है तो शरीर के अंदर का तापमान भी बदलता है जैसे कि गर्मी के बाद बारिश आना बारिश के बाद ठंडा आना और इसी कारण जब मौसम गर्मी से एकदम ठंड की ओर बढ़ता है तो शरीर का तापमान भी बढ़ता और कम होता जाता है जिसके कारण जो वायरस है उसे शरीर में पनपने और संक्रमण करने का सही तापमान मिल जाता है।

सारे वायरस ओं में से सबसे ऊपर आता है राइनोवायरस जिसे एचआईवी वायरस भी कहते हैं और यह वायरस 40 परसेंट लोगों तक को संक्रमित करके जाता है।

यह वायरस ज्यादातर ठंड के मौसम में ही होता है।जब हवा ठंडी और शुष्क होती है तब इनफ्लुएंजा वायरस फैलता है और यह डालो तो ठंड के मौसम में ही फैलता है।

लेकिन जैसा कि हम सब जानते हैं कि वायरस आते हैं और एक टाइम के बाद शरीर से चले भी जाते हैं वैसे ही बीमारियां भी उन वायरस के साथ चली जाती है लेकिन ऐसे बहुत सारे सुविधाएं हैं और ऐसे बहुत सारे इलाज है जो आप घर में करके भी उन वायरस को अपने से दूर रख सकते हैं और बीमारियों से बच सकते हैं जैसे कि :

  1. जब भी कोई वायरस या बीमारी आपको महसूस हो तो उस चीज की दवाई तुरंत ले और उस चीज को मौसम पर ना छोड़ कर उसकी दवाई लेने से हमारी तबीयत में ज्यादा असर दिखने लगता है।
Take Medicines Regularly
Take Medicines Regularly

2. साफ सफाई का रहना बहुत ज्यादा जरूरी है जैसे कि कहा जाता है कि गंदगी में वायरस पनपते हैं और हम जल्दी बीमार होते हैं इसलिए साफ-सफाई का होना बहुत जरूरी है।

Wash Your Hands Regularly And Keep Yourself Hygienic
Wash Your Hands Regularly And Keep Yourself Hygienic

3. अच्छा खाना खाए एवं जंक फूड नहीं खाना और फल फ्रूट के सेवन करने से वायरस कंपन आते हैं और हम बीमार कम पड़ते हैं जैसे की बारिश होती है तो उसमें बाहर का खाना बिल्कुल ना के बराबर खाना चाहिए क्योंकि वायरस कहीं से भी आ सकते हैं और वायरस आंखों से नहीं देखे जा सकते इसीलिए अपनी तबीयत का ध्यान रखना बहुत ज्यादा जरूरी है और खासकर की तब जब मौसम बदलता हो या हाल ही में बदला हो।

Do Not Ear Junk Food Only Eat Fruits & Vegetables
Do Not Ear Junk Food Only Eat Fruits & Vegetables

यही कुछ बातें हैं जो मौसम के बदलते वक्त ध्यान में रखनी चाहिए इससे बीमारियां दूर रहती है।

यह भी पढ़े:
चित्तौड़ की रानी ने क्यों लिया था जौहर?

About Eshika Patidar

Leave a Reply

Your email address will not be published.